जलमहल के बारे में अनोखी जानकारी जिन्हे आप नहीं जानते

दोस्तों हमारी ये दुनिया कई सारे रोमांचक और रहस्यों से भरा पड़ा है, जहां कहीं सारे गुत्थियों को तो हम सुलझा भी चुके हैं पर फिर भी गईं से ऐसे भी चीजें हैं जिनके बारे में हम कभी पता लगा ही नहीं पाए। हमारे देश में ऐसे कहीं सारे अनगिनत जगह और Historical building, और monuments हैं।

जिसके बारे में अगर हम जाने तो काफ्ची सारे ऐसे रोमांचक बाते सामने आएंगे जो आज से पहले हम कभी नहीं जानते होंगे। उन्ही में से एक ऐसी ही प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्मारक के Interesting facts जो लेके आए हैं। आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे राजस्थान के राजधानी में स्थित एक महल के बारे में जिसे लोग जलमहाल के नाम से बुलाते हैं।

जलमहल के बारे में अनोखी जानकारी जिन्हे आप नहीं जानते
जलमहल के बारे में अनोखी जानकारी जिन्हे आप नहीं जानते

इस महल के नाम के साथ साथ इससे जुड़े इसका इतिहास भी काफी ज्यादा रोचक है। जिसे की अगर आप जान ले तो आप इसे बिना शेयर किए रह नहीं पाओगे।

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका “TRENDS FACTS” में। तो बिना समय बर्बाद किए चलिए शुरू करते हैं आज के इस कमाल के फैक्ट सीरीज को।

  • जल महल, भारत में स्थित राजस्थान की राजधानी जयपुर के मानसरोवर झील में स्थित एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक महल है।
  • यह महल अरावली पहाड़ियों के बीचों बीच स्थित है।
  • अरावली पहाड़ियों के गर्व में स्थित होने के कारण इसे eyeball भी कहते हैं।
  • एक समय में इसे रोमांटिक महल के नाम से भी जाना जाता था।
  • इस पूरे महल को लाल बलुआ पथर से बनाया गया है, जिसमें कई जगहों को संगमरमर से तरसा गया है।
  • इस जलमहल की एक खास बात है, की इसकी चार मंजिलें तो पानी में ही डूबी रहती हैं। और बाकी का 1 मंजिल ही दिखाई देते हैं।
  • जयपुर आमेर मार्ग पर मान सरोसार झील के बीच स्थित इस महल का निर्माण राजा सवाई जयसिंह ने अश्वमेघ यज्ञ के बाद अपनी रानियों और पंडितों के स्नान के लिए बनवाया था।
  • तपते रेगिस्तान के धूम में इस महल में गर्मी नहीं लगती क्योंकि इसके कायिं तल पानी के अंदर भी बनाए गए हैं।
  • इस महल से पहाड़ और झील का खूबसूरत सा नजर भी देखा जा सकता है।
  • चांदनी रात में झील के बीचों बीच झील के पानी में इस महल का नज़ारा और भी ज़्यादा आकर्षक हो जाता है।
  • राजा इस महल का इस्तेमाल अपने रानी के साथ खास समय बिताने के लिए करते थे।
  • वे इसका उपयोग राजसी उत्सवों के लिए भी किया करते थे।
  • इस महल के चैट पे एक बगीचा भी स्थित है, जिसे चमेली बगीचा के नाम से जाना जाता है।
  • जल महल अब पक्षी अपधारक के रूप में भी विकसित हो रहा है।
  • यहां के नर्सरी में लगभग 1,00,000 से भी अधिक पेड़ लगे हुए हैं। जहां राजस्थान के सबसे ऊंचे पेड़ पाए जाते हैं।
  • इस महल के निर्माण से पहले जय सिंह ने जयपुर की जलापूर्ति हेतु गर्भवती नदी पर एक डैम बनवाकर मान सरोवर झील का निर्माण करवाया।
  • इसका निर्माण सन 1799 में हुआ था। जिसमें राजपूत शैली स्वरा तैयार की गई नौकावो का इस्ट माल किया गया
  • अगर आपको राजस्थान के हेंडी क्राफ्ट्स ज्यादा पसंद है, तो आपको इस जगह एक बार तो जरूर जाना चाहिए।
  • मकरसंक्रांति के दिन हर साल यहां इंटरनेशनल काइट फेस्टिवल का भी आयोंजन होता है। इस दिन कई से देशों के लोग आते हैं इस फेस्टिवल का लुफ्त उठाने के लिए।
  • इंटरनेशनल फेस्टिवल के दिन यहां कहीं तरह के पतंग उड़ाए जाते हैं। इतना ही नहीं यहां राजस्थानी डांस, गाने, और भी कई तरह के करतब भी दिखाए जाते हैं।
  • इस महल के अंदर जाना सख्त मना है। लेकिन इस महल के अंदर वो विदेशी आराम से जा सकते हैं, जो इसके रख रखाव के लिए डोनेशन देते हैं।

आज आपने क्या जाना ? About the post

दोस्तों आज का हमारा ये Fact Series आपको जरूर अच्छा लगा होगा। आज का हमारा ये आर्टिकल काफी ज्यादा रोमांचक था, जिसमें हमने आपको कई सारे किस्सों में लिपटे एक महल के के बारे में चर्चा की। जिसे हम जल महल के नाम से जानते हैं। हम आशा करते हैं कि आपको हमारा आज का ये आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें।

धन्यवाद!!!!

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *